Advanced Search
Welcome to Anuvada Sampada Repository

इसे सिद्ध कैसे करें?

शिराली, शैलेष (2017) इसे सिद्ध कैसे करें? अज़ीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी एट राइट एंगल्स. (Unpublished)

[img] Fulltext Document
How to Prove it.pdf

Download (357kB)

Introduction

प्रस्तुत लेख में क्रमागत संख्याओं के जोड़ से बने दो पैटर्नों की चर्चा है। पहला पैटर्न हमें आश्चर्य में डाल देता है। यह एक प्रारम्भिक आश्चर्य के रूप में आता है कि प्रत्येक प्राकृतिक संख्या n के लिए, n+1 से शुरू होने वाली लगातार संख्याओं का योग अगले n क्रमागत संख्याओं के योग के बराबर होता है। इसके अलावा लेखक अनौपचारिक तरीके से टी-नम्बरों की जाँच करता है और फिर इन नम्बरों को शामिल करने वाली तीन सर्वसमिकाओं को सिद्ध करने के माध्यम से इन्हें सिद्ध करने के वैकल्पिक तरीक़ों को तलाशता है।

Item Type: Article
Programme: University Publications > At Right Angles
Title(English): How To Prove it?
Publisher: Azim Premji University
Journal or Publication Title(English): Azim Premji University At Right Angles
Contributors: Translator: Manoj Sharaf; Reviewer: Sushil Joshi; Copy Editor: Anuj Upadhyay;
Related URLs:
URI: http://anuvadasampada.azimpremjiuniversity.edu.in/id/eprint/138
.
Edit Item Edit Item

Disclaimer

Translated from English to Hindi/Kannada by Translations Initiative, Azim Premji University. This academic resource is intended for non-commercial/academic/educational purposes only.

अनुवाद पहल, अज़ीम प्रेमजी विश्वविद्यालय द्वारा अँग्रेज़ी से हिन्दी में अनूदित। इस अकादमिक संसाधन का उपयोग केवल ग़ैर-व्यावसायिक, अकादमिक एवं शैक्षिक उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है।

ಅಜೀಂ ಪ್ರೇಮ್‍ಜಿ ವಿಶ್ವವಿದ್ಯಾಲಯದ ಅನುವಾದ ಉಪಕ್ರಮದ ವತಿಯಿಂದ ಇದನ್ನು ಇಂಗ್ಲೀಷ್‍ನಿಂದ ಕನ್ನಡಕ್ಕೆ ಅನುವಾದಿಸಲಾಗಿದೆ. ಈ ಶೈಕ್ಷಣಿಕ ಸಂಪನ್ಮೂಲವನ್ನು ವಾಣಿಜ್ಯೇತರ, ಶೈಕ್ಷಣಿಕ ಉದ್ದೇಶಗಳಿಗೆ ಬಳಸಬಹುದಾಗಿದೆ.